गर्मी शुरू होते भी बच्चो में बढ़ने लगी डायरिया की समस्या

उरई, (जालौन) 1 अप्रैल। बदलते मौसम व गर्मी शुरु होते ही जुकाम, बुखार, खांसी के अलावा डायरिया के मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है जिससे जिला अस्पताल में मरीजों की खासी भीड़ दिखाई देने के साथ साथ बच्चों की भी अधिक है। चिकित्सकों द्वारा इलाज से अलावा गर्मी को देखते हुए मरीजों को तमाम प्रकार की जानकारियां भी दी जा रही है। गौरतलबह हो कि दिन प्रतिदिन बढ़ती गर्मी के कारण बुखार जुकाम, खांसी के अलावा उल्टी दस्त के मरीज बढ़ने लगे है जिसमें छोटे छोटे बच्चों की संख्या भी कुछ कम नहीं है जिसको लेकर जिला चिकित्सालय में तैनात वरिष्ठ बाल एवं शिशु रोग विशेषज्ञ डा. एसपी सिंह ने बताया कि गर्मी बढ़ते ही बच्चों को जुकाम खांसी के अलावा उल्टी दस्त (डायरिया) जैसी समस्या बढ़ने लगी है। उन्होने कहा कि इनमें से किसी भी प्रकार की समस्या होने पर तत्काल नजदीकी अस्पताल या फिर जिला चिकित्सालय में दिखाये। बताया कि बच्चों को अगर उल्टी और दस्त एक साथ शुरु

होते है तो उसके शरीर पानी की कमी होना स्वाभाविक है एक या दो बाद उल्टी दस्त होने के बाद तत्काल

उन कं चीनी का घोल पिलाये। उन्होने बताया कि इसी दौरान बच्चे को तुरंत चिकित्सक को दिखाये क्योंकि हाल ही में दवा मिलने से जल्द आराम हो सकता है तथा घरेलू उपचार करने के चक्कर में मरीज की हालत बिगड़ भी सकती है। उन्होंने कहा कि गर्मी के मौसम में ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए और धूप से भी बचना हाएि। लू चलने पर सिर व कानों को कपड़े से ढक कर ही घर से बाहर निकले और हो सके तो घर से निकलने पर पानी भी साथ में रखे। बाहर की चीजे बिल्कुल न खाये, खास तौर पर बाजार में बिकने वाले फास्ट फूड खाने से भी बचे। इतना ही बाजार में खुले में रखी खाने की वस्तुएं जिन पर ढेरों मक्खियां बैठती है ऐसी चीजे तो बुलकुल ही न खाये। डा. सिंह ने बताया कि आज के समय में ज्यादातर मिलावटी खाद्य पदार्थ बाजारों में बेचे जा रहे है जिनको खाकर लोग कई गंभीर बीमारियों की चपेट में आते जा रहे है। खुले में रखे बाजारों में बिकने वाले खाद्य पदार्थों से दूर रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *