तकमीले कुरान की महफिल में दिन पर चलने की दी नसीहत

कालपी (जालौन) 1 अप्रैल। रमजानुल मुबारक के 20 वें रोज़े की रात को मुहल्ला दमदमा कालपी तकिया वाली मस्जिद में तकृमीले कुरआन की शानदार महफिल हुई इस मस्जिद में • दारुल उलूम गौसिया मजीदिया के फारिग हाफिज साजिद रजा ने बेहतरीन अंदाज में कुरआन पाक को सुनाया। रमजान की 21वीं : रात बड़ी अजमत वाली रात है जिसके बारे में मुफ्ती-ए-शहर • मुफ्ती अशफाक अहमद बरकाती ने कुरआन के तालुक से तकरीर करते हुए कहा कि कुरआन को समझो पढ़ने और उस पर अमल करके अपनी जिंदगी को संभाली। दारुल उलूम गौसिया मजीदिया के प्रिसिपल मुफ्ती तारिक बरकाती ने कहा कि अपने बच्चों को अच्छी तालीम दिलाओ और कुरआन भी पढ़ाओ और आगे कहां की अभी इस मस्जिद में तरावीह में कुरआन मुकम्मल हुआ है तरावीह खत्म नहीं हुई तरावीह तो पूरा महीना हो पढ़ना

जरूरी है। मौलाना इरफान अजहरी ने भी तकरीर की और नात सुनाई। दारुल उलूम गौसिया मजीदिया के नाज़िमे आला ने भी नात पाक पढ़ी। तकिया मस्जिद के इमाम मुजीब अल्यमा ने भी नात पाक सुनाई। इस क्रम में कारी एहसान व गुलाम वारिस व जीशन ने भी कलाम सुनाएं आने वाले मेहमानों का हाफिज इरशाद अशरफी और अब्दुल मुजीब अल्लामा ने फूल माला पहनकर स्वागत किया और कुरआन सुनाने वाले हाफिज साजिद रजा को इनाम देकर फूल माला पहनाकर हौसला अफजाई की गई। इस मौके पर कारी सलीम बरकाती, कारी शकील, हाफिज शाहनवाज, हाफिज वसीम, हाफिज रेहान, मुजीब बरकाती टेंट वाले, मोहम्मद उमर, वसीम खलीफा, जब्बार राईन, राशिद सुनार, कामिल तौफीक, अतीकुर्रहमान, वसीम खलीफा, नूरेहसन, पप्पू चावल, मुत्रा भाई समेत काफी लोगों ने शिरकत की और फातिहा के बाद सभी को लंगर खिलाया गया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *